सर्दियों में खाए पिंड खजूर हर बीमारी की चमत्कारी दवा -Palm Eat Every Illness In The Winter Of Conglomerate Wonder Drug

सर्दियों में खाए पिंड खजूर हर बीमारी की चमत्कारी दवा -Palm Eat Every Illness In The Winter Of Conglomerate Wonder Drug 

 खजूर हर बीमारी की चमत्कारी दवा
 खजूर खाने के फायदे
कुछ लोग खजूर देखकर ही इसे खाने से मना कर देते हैं, जिसका कारण है इसका पक्का रंग। लेकिन आज इस आर्टिकल के जरिए जब आप खजूर से मिलने वाले फायदे जान लेंगे, तो इसे खाने से खुद को रोक नहीं पाएंगे।
खाने-पीने की हर सामग्री में कुछ ना कुछ पौष्टिक गुण होते ही हैं। फिर वे फल-सब्जियां हों या मसाले, सभी अपने गुणों से हमें लाभ प्रदान करते हैं। लेकिन खजूर के कुछ गुण ऐसे हैं जिनसे मिलने वाले फायदों को जानने के बाद आप वाकई चकित होने वाले हैं।
जो लोग रोजाना वर्कआउट करते हैं, ढेर सारी कसरत करने के शौकीन हैं उन्हें खजूर अवश्य ही खाना चाहिए। ये उन्हें बिना किसी परेशानी के कसरत करने में सहयोग देगा।
जो लोग रोजाना खजूर खाते हैं, उन्हें कभी कोई संक्रमण अपना शिकार नहीं बना सकता। आजकल जिस तरह का प्रदूषण शहरों में फैला हुआ है, उससे सबसे ज्यादा धूल संबंधी संक्रमण होता है। यह संक्रमण शरीर में अधिक फैल जाने भिन्न-भिन्न प्रकार की बीमारियों को जन्म देता है।
खजूर का मीठापन और इसमें मौजूद प्रोटीन की भारी मात्रा, वजन बढ़ाने में कारगर सिद्ध होती है। एक किलोग्राम खजूर में कुल 3000 कैलोरी होती है, जो वजन बढ़ाने के सही अच्छी मात्रा है।


क्या है इसमें

केल्शियम ,आयरन ,विटामिन ,बी ,सी , से भरपूर पिंड खजूर में प्रोटीन कब्र्स और शर्करा भी पाए जाते है ,पूरी तरह से पके खजूर में 85% तक शर्करा होती है , यदि कोई 100 ग्राम खजूर का सेवन करता है तो उसे 280 केलौरी मिलती है ,
§  यदि किसी को कब्ज की शिकायत है तो पिंड खजूर का गर्म पानी या दूध किसी के साथ भी सेवन करने से लाभ होगा , पुरुषो के लिए दूध बलवर्धक माना जाता है 
§  खजूर में विटामिन और एंटी आक्सीडेंट तत्व पाए जाते है जो की रतोंधी की बीमारी में लाभ करेगा 
§  खजूर की गुटली का सुरमा आखो में डालने से आखो के रोग दूर होते है 
§  इसको खाने से खून में हिमोग्लोबिन बड़ता है ,रोजाना खजूर खाने से केल्शियम की कमी दूर हो जाती है 
§  दातं का दर्द और उसकी सडन को खजूर दूर करता है इसमें फ्लेरिन नमक मिनरल होता है जो की दातो की समस्या को दूर करता है 
§  वजन कम करने के लिए आपको संतुलित मात्र में खजूर का सेवन करना चाहिए ,खजूर में निकोटिन होता जो शरीर की पाचन किर्या और आंतो की समस्या का इलाज करता है 
§  खजूर शरीर के अच्छे बेक्टीरिया को बड़ाता है और खराब बेक्टीरिया को मरता है 
§  इसमें कोलेस्ट्रोल और ट्रांस्फेत नही होता है इसमें सभी प्रकार के न्यूट्रयंस पाए जाते है ,साथ ही ये केलोरी को कम करने में भी मदद करता है कमजोर बच्चो को खजूर और शहद मिलकर खिलाना फायदेमंद होता है 
§  खजूर खाने से मासिक धर्म ठीक आता है और कमर दर्द में भी लाभ होता है 

OTHER TIPS


§  . सर्दियो में प्रतिदिन 4 से 5 खजूर (Date Palm) खाये। खजूर (Date Palm) खाने से सर्दी, खाँसी नहीं होती।
§  . खजूर (Date Palm) को कुछ देर के लिए पानी में भीगो दे, और फिर इस पानी को पी ले। खजूर (Date Palm) वाला पानी पीने से सर दर्द ठीक हो जाता है।
§  . अगर आपको बार बार पेशाब आता है, तो खजूर (Date Palm) खाये। इससे फ़ायदा होगा।
§  . हर दिन4 से 5 खजूर (Date Palm) खाने से ब्लड प्रेशर कण्ट्रोल रहता है।
§  . खजूर (Date Palm) खाने से चहरे पर निखार आता है।
§  . खजूर (Date Palm) खाने से दिल की बीमारी (heart disease) का खतरा कम हो जाता है।
§  . जिस व्यक्ति को भूख अधिक लगती है, वह भूख लगने पर खाना खाने के वजाय थोड़ी सी खजूर (Date Palm) खा ले। ऐसा करने से मोटापा कम करने में मदद मिलेगी।
अति लाभकारी हैखजूर

शीतकाल में खजूर सबसे अधिक लोकप्रिय मेवा माना जाता है। घर घर में प्रयोग किया जाने वाला यह खाद्य फल है, जिसे अमीरगरीब ब़डे चाव से खाते हैं। होली के पर्व पर इसकी खूब मनुहार चलती है। खजूर रेगिस्तानी सूखे प्रदेश का फल है। प्रकृति की यह अनुपम देन खास ऐसे प्रदेशों के लिए ही है, जहां जिन्दगी ब़डी कठिन होती है और जहां बरसात या पीने के पानी की कमी होती है। इसके प़ेड हमें जीवन से ल़डना सिखाते हैं, इसीलिए इसके खाने का प्रचलन ज्यादातर सूखे रेगिस्तानी इलाकों में ही होता है। सूखे खजूर को छुहारा या खारकी कहते हैं। पिंड खजूर भी इसका दूसरा नाम है।

खजूर ताजा व सूखे को ही खाया जाता है। अरब प्रदेशों में आम की तरह खजूर भी रस भरे होते हैं, पर वे हाथ लगाते ही कुम्हला जाते हैं। सूखे किस्म की खजूर को पूरा सुखाया जाता है। इसके टुक़डों को मुखवास व खटाई में पचाकर तथा साग बनाकर भी खाया जाता है। अरब लोगों के लिए खजूर लोकप्रिय खाद्य पदार्थ है और वे रोज इसे थ़ोडा बहुत खाते ही हैं।

खाने के अलावा अन्य मिष्ठान्न व बेकरी में भी इसका उपयोग किया जाता है। इसका मुरब्बा, अचार व साग भी बनता है। खजूर से बना द्रव्य शहद खूब लज्जतदार होता है और यह शहद दस्त, कफ मिटाकर कई शारीरिक प़ीडाआें को दूर करता है। श्वास की बीमारी में इसका शहद अत्यन्त लाभप्रद होता है। इससे पाचन शक्ति ब़ढती है तथा यह ठंडे या शीत गुणधर्म वाला फल माना जाता है।

सौ ग्राम खजूर में ०४ ग्राम चर्बी, १ २ ग्राम प्रोटीन, ३३८ ग्राम कार्बोदित पदार्थ, २२ मिली ग्राम कैल्शियम, ३८ मिलीग्राम फास्फोरस प्राप्त होती है। विटामिन ए बी सी, प्रोटीन, लौह तत्व, पोटेशियम और सोडियम जैसे तत्व मौजूद रहते हैं। बच्चों से लेकर ब़ूढे, बीमार और स्वस्थ सभी इसे खा सकते है।

खजूर खाने के पहले इसे अच्छी तरह से धो लेना चाहिए, क्योंकि प़ेड पर खुले में पकते हैं तथा बाजार में रेहडी वाले बिना ढके बेचते हैं, जिस पर मक्खी मच्छर बैठने का अंदेशा रहता है। आजकल खजूर छोटी पैकिंगों में भी मिलते हैं। वे दुकानदार स्वयं पोलीथीन में पैक कर अपनी दुकान का नाम लगा देते हैं। वे इतने साफ नहीं होते। वैज्ञानिक ढंग से पैक किए खजूर ही खाने चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published.