मेथी के गुण

                               मेथी के गुण

मेथी के गुण


मेथी देखने में तो हैं छोटे, मगर गुण है अनेक। ये अपने महक और स्वाद के द्वारा पूरे व्यंजन के स्वाद को बदल देने की क्षमता रखते हैं।  वैसे तो मेथी का स्वाद थोड़ा कड़वा होता है लेकिन भारतीय रसोईघरों में मेथी का इस्तेमाल साधारणतः करी, सब्ज़ियों से बने व्यंजन, दाल आदि के स्वाद को बढ़ाने के लिए किया जाता है। और मेथी के पत्तों से बनें मेथी पराठा की बात कैसे भूल सकते हैं।मेथी में पोटेशियम और विटामिन सी जैसे पोषक तत्व पाये जाते हैं। हरी सब्जियों में लोहा अधिक पाया जाता है। जो शरीर की कमजोरी को नष्ट करता है। यह खांसी, कफ, बुखार, बवासीर, टी बी जैसी खतरनाक बीमारियों की रोकथाम करती है। साथ ही मेथी के इस्तेमाल से शरीर की कमजोरी, दांतों की सड़न आदि की बीमारी दूर होती है। मेथी किस तरह से आपकी सेहत के लिए उपयोगी है  इस यौगिक के कारण ही मेथी बहुगुणी बन जाता है, जिसके कारण वह स्वास्थ्य से लेकर सौन्दर्य सभी क्षेत्रों में अपना जादू चला पाता है।आइये जानते हैं मेथी के इस्तेमाल और फायदों के बारे में।

सर्दी जुकाम होने पर :-
कफ दोष की वजह से जिन्हें हमेशा सर्दी-जुकाम रहता है वे सरसों के तेल को गरम करके अदरक, गरम मसाला और लहसुन डालकर बनायी गई मेथी की सब्जी का सेवन नित्य करें। एैसा करने से सर्दी जुकाम से निजात मिलेगा।

स्तन के आकार को बढ़ाता है:-
अगर आप स्तन के छोटे आकार को लेकर शर्मिंदा महसूस करते हैं तो मेथी को अपने रोज के आहार में शामिल करें। इसका एस्ट्रोजेन हार्मोन स्तन के आकार को बढ़ाने में मदद करता है।
बहुमूत्रता:-
जिन लोगों को बार-बार पेशाब जाना पड़ता हो यानि बहुमूत्रता से परेशान हो उनके लिए मेथी का सेवन लाभकारी होता है। मेथी की भाजी के 100 मि.ली रस में डेढ़ ग्राम मिश्री डालकर नित्य सेवन करने से बहुमूत्रता से छुटकारा मिल सकता है।
हृदयसंबंधी खतरे को कम करने में मदद करता है:-
मेथी के दानों में गैलाक्टोमेनन (galactomannan) के गुण के कारण वह दिल के दौरा पड़ने के खतरे को कम करने में मदद करता है।  मेथी पोटेशियम का सबसे अच्छा स्रोत होता है जो सोडियम के प्रभाव को कम करके दिल के हृदय गति और रक्त चाप को नियंत्रित करने में मदद करता है।
बालों के झड़ने के लिए ( Methi/fenugreek seeds for hair loss):-
बालो के झड़ने का इलाज, मिक्सर में मेथी के बीज के 2 बड़े चम्मच ले लो और पाउडर के रूप में उन्हें पीसो। अब इस पाउडर को एक कटोरी में लें और उसमे एक बड़े चम्मच नारियल या जैतून का तेल अच्छी तरह से मिलाएं। इस मिश्रण को बालों के झड़ने और क्षतिग्रस्त क्षेत्र पर लगायें। दस मिनट के लिए इसे सूखने दें। फिर हल्के शैम्पू से धो लें।
रूसी के लिए ( dandruff-Soak):-
रूसी इलाज के लिए आयुर्वेदिक तरीके, रात  भर भिगोये हुये मेथी के बीज को लें और मिक्सर में चिकना पेस्ट बना लें। इस पेस्ट को एक कटोरी में लें और 1 बड़ा चम्मच नींबू का रस अच्छी तरह से मिलाएं। इसे बालों और सिर पर लगायें। यह रूसी हटाने का पुराना दादी माँ का नुस्खा है।
मधुमेह को नियंत्रित करता है:-
मेथी मधुमेह ग्रस्त लोगों के लिए वरदान स्वरूप है। मेथी में जो घुलनशील फाइबरगैलाक्टोमेननहोता है, वह रक्त में शुगर के सोखने की प्रक्रिया को कम करने में मदद करता है।
 सर्दी जुकाम होने पर:-
कफ दोष की वजह से जिन्हें हमेशा सर्दी-जुकाम रहता है वे सरसों के तेल को गरम करके अदरक, गरम मसाला और लहसुन डालकर बनायी गई मेथी की सब्जी का सेवन नित्य करें। एैसा करने से सर्दी जुकाम से निजात मिलेगा।
हाथ पैर के दर्द में :-
वायु रोग के कारण हाथ और पैरों में दर्द होता है। इस दर्द से राहत पाने के लिए मेथी दानों को घी में सेंककर उसका चूर्ण बनायें एंव उसके लड्डू बनाकर प्रतिदिन एक लड्डू खाने से आपको दर्द से निजात मिलेगा।

चेहरे का घरेलू स्क्रब (Methi/fenugreek homemade Facial Scrub):-

मेथी दाना के लाभ, दो भाग भीगे हुये मेथी के बीज और एक भाग दही लेकर मिक्सर में दरदरा पीस लें। जब मिश्रण चिकना हो जाए, तो उसमें मेथी पाउडर डाल दें। अब इसे चेहरे पर रगड़ें। यह चेहरे से मृत त्वचा कोशिकाओं को निकाल देगा।

सौन्दर्य की चीजें :-

आप मेथी से बने हुए फेस पैक के इस्तेमाल से झुर्रियों, मुंहासे और ब्लैकहेड को खत्म कर सकते हो। मेथी के दानों को पानी में उबालकर उसे ठंडा कर लें और उससे अपना चेहरा साफ करें।मेथी के हरे पत्तों को अच्छे से पीसकर उसका पेस्ट बना लें और इसे अपने चेहरे पर 15 मिनट तक लगाकर सूखने दें। और फिर अपना चेहरा पानी से धो लें।

मुहांसो के इलाज के लिए मेथी के बीज (Methi/fenugreek seed for pimple ):-                                                                                      

मुहांसे का उपचार, रात भर भीगे हुए मेथी के बीजों को लें और अगले दिन सुबह इसे चिकना मलाईदार होने तक पीसें। इस मिश्रण को अपनी उंगली के टिप की सहायता से मुहांसो के ऊपर लगायें। दस से बारह मिनट के लिए सूखने दें, और फिर ठंडे पानी से चेहरा धो लें। अपने चेहरे को मुहांसो से  मुक्त करने के लिए इस प्रक्रिया को 30 से 45 दिनों के लिए दोहरायें।
कोलोन कैंसर के खतरे को कम करने में मदद करता है:-
मेथी का फाइबर शरीर से विषाक्त पदार्थ टॉक्सिन्स को निकालने में सहायता करता है। इस प्रक्रिया के द्वारा वह कैंसर से कोलोन के म्युकस मेमब्रेन की रक्षा करता है। 
भूख को कम करके वज़न घटाने की प्रक्रिया में मदद करता है:-
सुबह भिगोया हुआ मेथी दाना खाने से पेट देर तक भरा हुआ महसूस होता है। इसलिए जो लोग वज़न घटाना चाहते हैं वे खाली पेट इसका सेवन कर सकते हैं।
जलने के निशान पर मेथी के बीज के उपयोग : मेथी के फायदे,जलने के निशान से छुटकारा पाना कठिन है, लेकिन समय के साथ मेथी के उपयोग से ये फीका हो सकता है। रात भर भीगे हुए मेथी के बीज का पेस्ट बनाकर निशान  पर लगायें,और उसे पूरी तरह से सूखने दें। अब उसे पानी से धो लें। इसे नियमित रूप से प्रयोग करें
सावधानी:-
मेथी गर्म होती है इसलिए अत्याधिक इसका सेवन न करें। यह पित्त को बढ़ाती है। जो लोग पेशाब में खून, मासिक धर्म और खूनी बवासीर से परेशान हों वे लोग मेथी का सेवन न करें।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.